पुलिस की मनमानी रोकने नागपुर में जल्द शुरू होगा पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र


  • पुलिस की मनमानी रोकने नागपुर में जल्द शुरू होगा पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र
    पुलिस की मनमानी रोकने नागपुर में जल्द शुरू होगा पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र
    1 of 1 Photos

नागपुर : हमारे सामने पुलिसिया मनमानी के ऐसे अनेक मामले दिखाई देते है, जब कोई कारण नहीं होते भी किसी को किसी भी मामले में फंसा दिया जाता है। उस समय पीड़ित के सामने समस्या यह होती थी कि वह संबंधित पुलिस अधिकारी की शिकायत किससे करने जाए। राज्य के गृह मंत्रालय ने नागरिकों की इस समस्या को स्वतंत्र पुलिस शिकायत प्राधिकरण की स्थापना कर अब दूर कर दिया है। पीड़ित प्रत्यक्ष, पोस्ट या ई-मेल पर ऑनलाइन कर सकता है।  

स्वतंत्र पुलिस शिकायत प्राधिकरण की स्थापना से हर माह मुंबई प्राधिकरण के अध्यक्ष कार्यालय को 400 से 500 शिकायतें मिल रही हैं। 

नागपुर में जल्द ही पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र शुरू होने जा रहा है, जिसमे शिकायत की पूरी छानबीन की जाएगी। नागपुर में भी पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र की शुरूआत संभवत: मई माह के अंत तक होने की जानकारी प्राप्त हुई है। राज्य पुलिस शिकायत प्राधिकरण के सदस्य उमाकांत मिटकर ने इसकी पुष्टि करते हुए जानकारी दी कि मुंबई, नाशिक और पुणे में इस प्राधिकरण की शुरूआत हो चुकी है। महाराष्ट्र देश का संभवत: पहला राज्य होगा, जहां पर पुलिस शिकायत प्राधिकरण केंद्र की शुरूआत की गई है। नागपुर, कोंकण, औरंगाबाद आैर अमरावती में भी जल्द ही इस प्राधिकरण की शुरूअात की जाएगी। इसमें सेवानिवृत्त न्यायाधीश, सेवानिवृत्त आईपीएस पुलिस अधिकारी और भारतीय प्रशासनिक सेवा विभाग का सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी व सदस्य शामिल हैं। 

कोई भी पीड़ित व्यक्ति, उसका परिवार, दोस्त, एक-दो प्रत्यक्षदर्शी अपनी शिकायतें लिखित कर सकते हैं। ई मेल - mahaspca@gmail.com पर या राज्य पुलिस शिकायत प्राधिकरण 4थी मंजिल, कुपरेज टेलिफोन एक्सचेंज बिल्डिंग महर्षि कर्वे रोड नरीमन पाईंट मुंबई में भी शिकायत किया जा सकता है। पुलिस अधिकारी के दोषी पाए जाने पर प्राधिकरण उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश कर सकता है। कार्रवाई नहीं करने पर संबंधित विभाग को प्राधिकरण को लिखित स्वरुप में जबाब देना होगा। प्राधिकरण के पास सहायक पुलिस आयुक्त से लेकर अन्य अधिकारियों की शिकायतों पर सुनवाई होगी। जिला स्तर पर सहायक पुलिस आयुक्त से लेकर कनिष्ठ स्तर के अधिकारियों की शिकायतों पर सुनवाई होगी। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today