दिसंबर २०१८ तक गोरेवाड़ा जंगल में मिलेगा इंडियन सफारी का मजा


  • दिसंबर २०१८ तक गोरेवाड़ा जंगल में मिलेगा इंडियन सफारी का मजा
    दिसंबर २०१८ तक गोरेवाड़ा जंगल में मिलेगा इंडियन सफारी का मजा
    1 of 1 Photos

नागपुर : अब जल्द ही शहरवासियों और शहर में आनेवाले टूरिस्टों को शहर से लगे गोरेवाड़ा में इस वर्ष के आखिर तक इंडियन सफारी का आनंद लेने को मिलनेवाला है । जिससे टूरिस्टों को टायगर (बाघ), लेपर्ड, भालू , हिरन, अन्य जंगली जानवर आदि वन्य प्राणियों को आसानी सेे देखने मिल सकेगा। इसके अलावा कई तरह के मनोरंजन के संसाधन भी टूरिस्टों को उपलब्ध कराए जाएंगे। ख़ास बात यह है की यहां घूमने आने वालों के लिए ठहरने की भी व्यवस्था की जाएगी। ऐसे में उम्मीद है कि आनेवाले वर्षों में गोरेवाड़ा में पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी। यहां मिलने वाली सुविधाएं आदि पीपीपी के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी, जिसे एक्सल वर्ल्ड की ओर से किया जाएगा। इंडियन सफारी की लागत राशि करीबन 50 करोड़ बताई जा रही है, जिसका पूरा खर्च राज्य सरकार कर रही है I

बता दे नागपुर के करीब गोरेवाड़ा जंगल 1914 हेक्टेयर में फैला हुआ है। वर्ष 2007 में 539 हेक्टेयर क्षेत्र का विकास करने की घोषणा की गई थी। इसमें 15 किमी का क्षेत्र जंगल सफारी के लिए रखा गया है। अभी तक टूरिज्म स्पॉट नहीं होने से यहां पर्यटक कम आते हैं। यहां अफ्रीकन सफारी को भी साकार किया जाएगा। अफ्रीकन  सफरी की तर्ज पर यहां गांव का दृश्य भी देखने को मिलेगा। इंडियन सफारी का निर्माण 145 हेक्टेयर में होगा।  इसमें टायगर, लेपर्ड और भालू  सफारी के लिए 25-25 हेक्टेयर क्षेत्र होगा।  शाकाहारी प्राणियों की सफारी 40 हेक्टेयर में होगी। फिलहाल इसका काम तेजी से शुरू है। परियोजना से जुड़े जानकारों के अनुसार वर्ष के आखिर तक इंडियन सफारी का निर्माण पूरा हो जाएगा। यहां आनेवालों को 4 सफारी का लुत्फ उठाने का मौका मिलेगा। यहां बॉयोपार्क, बर्ड सफारी का निर्माण भी होनेवाला है। कुल मिलाकर आनेवाले दिनों में गोरेवाड़ा एक टूरिज्म हब बन कर सामने आयेगा जिससे नागपुर में टूरिस्टों का आवागमन अधिक रहेगा I 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today