शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा


  • शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा
    शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा
    1 of 4 Photos
  • शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा
    शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा
    1 of 4 Photos
  • शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा..
    शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा..
    1 of 4 Photos
  • शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा....
    शहर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया गुड़ी पाडवा....
    1 of 4 Photos

नागपुर : शहर में गुड़ी पाडवा बड़े ही हर्षोल्लास और चैत्र मास की शुक्‍ल प्रतिपदा के साथ मनाया गया । लोगो ने सुबह से ही अपने घरो के आँगन में, दुकानों में, फ्लैट के छतो पर गुड़ी की स्थापना कर बड़े ही भक्ति भाव से पूजा की I कहा जाता है की गुड़ी पाडवा के साथ ही हिन्‍दू नववर्ष की शुरुआत होती है। इसे हिन्दू नववर्ष, वर्ष प्रतिपदा, उगादि, नवसंवत्सर और युगादि भी कहा जाता है। हिन्दू सनातन् धर्म में गुड़ी पड़वा का खास महत्व है। गुड़ी पाडवा हर साल चैत्र महीने के पहले दिन मनाया जाता है। इससे नए साल की शुरुआत होती है। देश के शहरों में इसे अलग-अलग नाम से जाना जाता है और मनाया जाता है। बता दे महाराष्ट्र में गुड़ी पाडवा को बहुत खास तरह से मनाया जाता है। 

वहीं गोवा और केरल में कोंकणी समुदाय इसे संवत्सर पड़वो के नाम से मनाता है। कर्नाटक में गुडी पाडवा को युगाड़ी पर्व के नाम से जाना जाता है। आन्ध्र प्रदेश और तेलंगाना में इसे उगाड़ी नाम से भी जानते हैं। गुड़ी पाडवा हिंदी महीने चैत्र के पहले दिन मनाया जाता है। महाराष्ट्र में इसे नये साल की शुरूआत मानी जाती है। इसी दिन कर्नाटक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश आदि में उगादी मनाया जाता है। लोग इस दिन को काफी शुभ मानते हैं, क्योंकि ऐसी मान्यता है कि भगवान ब्रह्मा ने इसी दिन सृष्टि का निर्माण किया था और सतयुग की शुरुआत हुई थी। इस दिन मीठे पकवान बनाकर गुड़ी को भोग लगाकर पूजा की जाती है। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today