शत्रुघ्न और यशवंत सिन्हा पार्टी से नाराज नेताओं से करेंगे मुलाकात


  • शत्रुघ्न और यशवंत सिन्हा पार्टी से नाराज नेताओं से करेंगे मुलाकात
    शत्रुघ्न और यशवंत सिन्हा पार्टी से नाराज नेताओं से करेंगे मुलाकात
    1 of 1 Photos

नागपुर :  भारतीय जनता पार्टी और सरकार के मुखिया से नाराज चल रहे सांसद नाना पटोले ने अब अन्य असंतुष्ट नेताओं को इकट्ठा करने की तैयारी करते दिखाई दे रहे हैं। इसी के चलते बीजेपी के पूर्व मंत्री यशवंत सिन्हा और शॉटगन यानी शत्रुघ्न सिन्हा 1 दिसंबर को विदर्भ आ रहे हैं। दोनों नेता अकोला में जीएसटी, नोटबंदी, कपास और धान को न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की मांग को लेकर होने वाली मीटिंग में हिस्सा लेंगे।  सांसद पटोले ने बताया कि दोनों नेता इस मीटिंग में शामिल होंगे I 

पत्रकार परिषद् में सांसद नाना पटोले ने कहा कि इस समय विदर्भ के नेताओं का स्वास्थ्य खराब चल रहा है इन नेताओँ का इलाज ये नेता करेंगे। बीजेपी प्रवक्ता माधव भंडारी द्वारा सांसद पटोले की भूमिका पर प्रहार करने के मुद्दे पर पटोले ने कहा कि मेरी चिंता न करें। भंडारा-गोंदिया में हमने बीजेपी को मजबूत बनाया है। राज्य में पहली बार भंडारा-गोंदिया जिला परिषद चुनाव में बीजेपी को बहुमत मिला। इसके पहले कभी यहां बीजेपी को बहुमत नहीं मिला। पार्टी को यहां खड़ा करने का काम हमने किया तब जाकर भंडारा-गोंदिया में बीजेपी की स्थिति सुधरी और बहुमत मिला।

गौरतलब है कि सांसद नाना पटोले पिछले काफी समय से पार्टी से नाराज चल रहे हैं। उनके पार्टी विरोधी बयान सुर्खियां बन रहे हैं। अपनी ही पार्टी के नेतृत्ववाली सरकार के विरोध में  बयान देकर यशवंत सिन्हा व नाना पटोले दोनों ही चर्चा में आए थे जबकि शत्रुघ्न सिन्हा पिछले चुनाव से बीजेपी हाईकमान के आंखों की किरकिरी बने हुए हैं। अब ये विरोधी नेता एकजुट होकर अपनी ही पार्टी की नाकामी को गिना रहे हैं। यशवंत सिन्हा जब पिछली बार नागपुर आए थे तब नाना पटोले उनसे मिलने नागपुर एयरपोर्ट गए थे। दोनों नेताओं के बीच  करीब एक घंटे तक विविध विषयों पर चर्चा भी हुई थी । वैसे तो सांसद पटोले ने सितंबर में नागपुर से ही केंद्र सरकार के विरोध में खुलकर बोलना शुुरू कर दिया था। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के बारे में कहा कि वे किसी की बात सुनना पसंद नहीं करते हैं। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को असक्षम ठहराते हुए कहा कि वे केंद्र से निधि नहीं ला पा रहे हैं। 

पटोले ने कहा था ,सुनना पसंद नहीं करते मोदी

एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भंडारा-गोंदिया से सांसद पटोले ने कहा था कि 'मोदी को सवाल पूछना अच्छा नहीं लगा और वो उस वक्त बहुत गुस्सा हो गए थे जब मैंने ओबीसी मंत्रालय और किसानों की आत्महत्या के बारे में सवाल करने की कोशिश की थी। जब मोदी से सवाल किया जाता है, तो वो पूछने लगते हैं कि क्या आपने पार्टी का घोषणा पत्र पढ़ा है और क्या सरकारी स्कीमों की जानकारी है आपको?' 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today