सेरेबेरल एक्टासिया ग्रस्त मरीज का स्टेम सेल थेरेपी से हुवा सफल इलाज


  • सेरेबेरल एक्टासिया ग्रस्त मरीज का स्टेम सेल थेरेपी से हुवा सफल इलाज
    सेरेबेरल एक्टासिया ग्रस्त मरीज का स्टेम सेल थेरेपी से हुवा सफल इलाज
    1 of 1 Photos

नागपुर : नागपुर शहर की 54 वर्षीय महिला ने सेरेबेरल एक्टासिया के इलाज के लिये मुम्बई के न्यूरोजेन ब्रेन एण्ड स्पाइन इन्स्टिट्यूट मे स्टेम सेल थेरेपी ली । इस सुपर स्पेशालिस्ट अस्पताल मे लाइलाज न्यूरोलोजिकल विकारों के उपचार के लिये स्टेम सेल थेरेपी की जाती है, यूरोजेन ब्रेन एण्ड स्पाइन इन्स्टिट्यूट की उप निदेशक और चिकित्सा सेवाओं की प्रमुख डॉ. नंदिनी गोकुलचंद्रन ने बताया की वर्तमान में एक्टासिया  के लिए कोई उपचार नहीं है I एक्टासिया की बिमारी होने का प्रमुख कारण है सर में चोट लगना साथ ही आघात, स्ट्रोक, सेरेब्रल पाल्सी, मल्टिपल स्केलेरोसिस ट्यूमर या जहरीले रसायन की वजह है I

एक्टासिया समय की साथ विकसित हो सकता है या अचानक आ सकता  है I नागपुर शहर की 54 वर्षीय शुभदा बेलसरे को सेरेबेरल एटाक्सि बिमारी ने जकड़ा था I २००७ में अचानक शुभदा में संतुलन और समन्वय के लक्षण नजर आने लगे उसके बाद उन्हें एक न्यूरोलॉजिस्ट के पास ले जाया गया और सभी आवश्यक परिक्षण करने के बाद चिकित्सक ने शुभदा को सेरेबेरल एटाक्सि से पीड़ित पाया I जिसके बाद यूरोजेन में उसका स्वनिर्धारित पुनर्वास कार्यक्रम के साथ स्टेम सेल थेरेपी का उपचार शुरू हुवा, पुनर्वास कार्यक्रम का उद्देश्य उसके समग्र सहनशक्ति को बढ़ाना और उसके समन्वय में विकास करना था I जिसके चलते मांस पेशियों में शक्ति की वृद्धि हो सके I उनसे ऐसे व्यायाम कराये गए की उनकी संतुलन क्षमता, सीढिया चढ़ने की और बिना सहारे चलने में सुधार हो सके, कुल मिलाकर उनके जीवन में सुधार लाने की यह कोशिश थी जो की वक्त के साथ सफल हो रही है I

न्यूरोजेन ब्रेन एण्ड स्पाइन इन्स्टिट्यूट मे स्टेम सेल थेरेपी, न्यूरोलॉजीकल विकार मसलन, सेरेबेरल पाल्सी, मानसिक मंदता, ब्रेन स्ट्रोक, मस्क्युलर डिस्ट्राफी, स्पाइनल कॉर्ड इंजुरी, सिर में चोट, सेरेबेरल एटाक्सिया, न्यूरोसाइकीएट्रिक विकार आदि के लिए स्टेम सेल थेरेपी और समग्र पुनर्वास प्रदान करता है, अभी तक इस संस्था ने ५० से ऊपर देशो के ५००० मरीजों का सफलतापूर्वक इलाज किया है I 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today