ई-रिक्शा के लिए साईकिल रिक्शा चालकों का आंदोलन


  • ई-रिक्शा के लिए साईकिल रिक्शा चालकों का आंदोलन
    ई-रिक्शा के लिए साईकिल रिक्शा चालकों का आंदोलन
    1 of 2 Photos
  • ई-रिक्शा के लिए साईकिल रिक्शा चालकों का आंदोलन
    ई-रिक्शा के लिए साईकिल रिक्शा चालकों का आंदोलन
    1 of 2 Photos

नागपुर : दुनिया में कम पढ़े लिखे होना और उसमे गरीबी की मार तो इंसान क्या करेगा मजबूरन उसे कोई हमाली या बोझा उठाने का काम करना पड़ता है इसी का एक उदहारण है साईकिल रिक्शा चलाना, रिक्शे में तीन से चार सवारी बिठालकर वह रिक्शाचालक उन्हें कम दाम में अपनी सेवा देता है I भारतीय संविधान के अनुसार इस देश में गरीब से गरीब को जीने का अधिकार दिया गया है, क्योकि साईकिल रिक्शा चलाने से उस व्यक्ति को दमा, अस्थमा, अंडाशय जैसे बीमारियों का सामना करना पड़ता है इसीलिए सरकार को अपनी व्यथा बताने हेतु आज संविधान चौक पर ई - रिक्शा मिलने हेतू भव्य साईकिल रिक्शाचालकों का आंदोलन किया गया इस आंदोलन में नागपुर के करीबन ५०० रिक्शाचालक शामिल हुवे थे I

उनकी मांग थी की कोई भी बिना डाउन पेमेंट किये हमें ई - रिक्शा दिया जाये जिससे हम अपने परिवार का पोषण कर सके और हर दिन की आमदनी से ई - रिक्शा के कर्ज की भरपाई करेंगे, जिस रिक्शाचालक की उम्र ६० साल हो चुकी है उसे सरकार की ओर से प्रति माह १००० रु का मानधन दिया जाये I यह आंदोलन युवा जागर की ओर से किया गया रिक्शा चालकों का एक शिष्ट मंडल अपनी मांगो के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिलकर पत्र देनेवाला है I



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments