विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण


  • विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण
    विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण
    1 of 4 Photos
  • विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण
    विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण
    1 of 4 Photos
  • विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण ..
    विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण ..
    1 of 4 Photos
  • विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण ...
    विसर्जन के बाद फुटाला तालाब में बढ़ा प्रदुषण ...
    1 of 4 Photos

नागपुर : स्वच्छ सुन्दर नागपुर की कल्पना करनेवाले मनपा को शहर के नागरिको ने दाग लगा दिया है क्यों की कल तक पूरे देश में गणेश विसर्जन किया गया । विसर्जन के बाद इन मूर्तियों का ढांचा, हार फूल, घास और बांस आज फुटाला तालाब पर भारी मात्रा में पानी पर तैरते नजर आये, जिससे पानी में प्रदुषण होने से कई मछलिया अपनी जगह छोड़ तालाब के दूसरे ओर चली गई I कभी किसी ने सोचा नहीं होगा की विसर्जन के बाद इन मूर्तियों का क्या होता है ये बहुत कम लोगों ने सोचा होगा ।

बता दें कि विसर्जन के बाद ये मूर्ति कई बार तालाब के किनारे पर आ जाती हैं और वहीं पड़ी रहती हैं। इसके बाद कई स्वयंसेवी संस्थाएं इन्हें वहां से हटवाकर सही जगह पहुंचाती हैं जिससे की वहां पर प्रदूषण न हो।

विसर्जन के दूसरे दिन बाद आज इन मूर्तियों को नगरनिगम वाले हटाते हुवे नजर आये । और वहा पर कुछ मछवारे इन ढांचे, लकड़ी, बास को जलाने हेतु अपने घर ले जाते हुवे दिखाई दिए, कुछ जगह पर जो लोग मूर्ति बनाते हैं वे लोग ही इन किनारे पर आई मूर्तियों को ले जाते हैं और फिर से इसी को मोडिफाई करके फिर से मूर्ति बना लेते हैं। विसर्जन शब्द संस्कृत भाषा का शब्द है उसका अर्थ है पानी में विलीन होना। हम घर में किसी मूर्ति की पूजा करते है तो उसके बाद विसर्जित कर उसे सम्मान दिया जाता है।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today