खुद के बचाव में दो किसानो ने की, तेंदुए की ह्त्या


  • खुद के बचाव में दो किसानो ने की, तेंदुए की ह्त्या
    खुद के बचाव में दो किसानो ने की, तेंदुए की ह्त्या
    1 of 2 Photos
  • 1 of 2 Photos

नागपुर : रविवार की सुबह नागपुर के पास एक आदमखोर तेंदुए ने उमरेड के लोहारा गांव में दो किसानो पर अचानक हमला कर दिया । बचाव में दोनो ने तेंदुए पर कुल्हाड़ी से वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। हमले में बुरी तरह घायल दोनों किसान भाइयों को इलाज के लिए नागपुर स्थित मेडिकल अस्पताल में भर्ती किया गया है । इस इलाके में किसी इंसान पर तेंदुए के हमले की यह पहली घटना बताई जा रही है। मारा गया तेंदुआ दो से ढाई साल की उम्र का था। गांव वन्यजीव अभयारण्य के पास ही स्थित है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार सुबह दो किसान भाई रवींद्र ठाकरे और राजेंद्र ठाकरे खेत में गए थे। काम करने के दौरान एक भाई पर तेंदुए ने हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। तेंदुए द्वारा भाई को दबोचा हुआ देखकर दूसरे भाई ने उस पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया बदले में इस तेंदुए ने उस पर भी हमला कर लहूलुहान कर दिया। लेकिन कुल्हाड़ी से किए गए हमले में तेंदुए की रीढ़ की हड्डी टूट गई, जिससे वह कमजोर हो गया। तेंदुए को कमजोर पकड़ता देख किसान भाइयों ने उस पर लाठियों से वार कर अधमरा कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई ।

इस घटना के बाद गांव के लोग बड़ी संख्या में सहायता के लिए खेत पहुंच गए। घायल भाइयों को पहले उमरेड के शासकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां स्थिति नाजुक होने के चलते उन्हें बेहतर इलाज के लिए नागपुर के मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनका उपचार शुरू है। घटना की जानकारी मिलते ही पंचमाने के लिए वन विभाग के सहायक वन संरक्षक मंगेश ठेंगड़ी, वन परिक्षेत्र अधिकारी डी.बी. वाघ, मानद वन्यजीव रक्षक रोहित कारू, उमरेड पुलिस थाने के थानेदार पुलिस निरीक्षक प्रकाश हाके व अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today