आरएसएस लाएगा युवाओ को जोड़ने "संघ मोबाइल एप"


  • आरएसएस लाएगा युवाओ को जोड़ने
    आरएसएस लाएगा युवाओ को जोड़ने "संघ मोबाइल एप"
    1 of 1 Photos

नागपुर : देश में सबसे बड़े स्वयंसेवी संगठन माने जानेवाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने युवाओं को संघ से जोड़ने के लिए संघ ने मोबाइल एप लांच करने का निर्णय लिया है । युवाओं की जनसंख्या को देखते हुए यह कदम उठाए जाने की चर्चा है। उल्लेखनीय है कि राजनीतिक ही नहीं सामाजिक संस्थाओं की संगठनात्मक रणनीति युवा पर केंद्रित होने लगी है। पिछले कुछ सालो से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने युवाओं को जोड़ने का अभियान शुरू किया है । इसके लिए विविध नीतियों पर विचार चल रहा है, महाविद्यालय व अन्य संस्थाओं में संघ विचारधारा के अधिक से अधिक प्रचार का प्रयास किया जा रहा है। साथ  ही विशेष सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है। सूत्र के अनुसार संघ के ऑनलाइन सदस्यता अभियान को व्यापक समर्थन मिलने के बाद अब संघ युवाओं को संगठन के साथ जोड़ने के लिए बड़े स्तर पर प्रयास कर रहा  है।

 नए अभियान  के तहत 15 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं को संघ के साथ जोड़ने का क्रम चलाया गया है। इसी सदस्यता अभियान के क्रम में संघ ने मुंबई और कोंकण क्षेत्र में ‘हिंदू चेतना संगम’ का आयोजन किया। यह आयोजन देश के अन्य राज्यों में भी किए जाने की योजना है। इसके लिए संघ ने ‘हिंदू चेतना संगम’ नाम के एक मोबाइल एप्लीकेशन का भी निर्माण किया है। संघ से जुड़े सूत्रों का कहना है कि यह पहली बार है, जब संघ ने कई क्षेत्रों में एक वर्ष  में 2 बार शिविर का आयोजन किया। इन 8 दिवसीय आवासीय शिविर में 25 से 40 वर्ष के आयु के तमाम लोग हिस्सा ले रहे हैं। इसके अलावा हाल ही में संघ से जुड़े युवाओं के लिए भी कई प्रमुख राज्यों में एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। नए प्रकार के सदस्यता अभियान के बारे में संघ से जुड़े सूत्रों का कहना है कि यह पहली बार है, जब संघ द्वारा गलियों में मौजूद अपने बूथों पर भी सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है।

 ऑनलाइन अभियान  को साल 2016 में शुरू होने के बाद से ही बहुत अच्छा फीडबैक मिल रहा था और हर साल भारी संख्या में लोग इस अभियान के माध्यम से संघ से जुड़ रहे थे। खासकर युवा वर्ग ऑनलाइन सदस्यता से अधिक प्रभावित हुआ, जिससे संघ को नए सदस्य मिले। इसी के मद्देनजर संघ ने इतने बड़े स्तर पर सदस्यता अभियान की शुरुआत की । देश में हर रोज 57 हजार शाखाओं का संचालन गौरतलब है कि संघ द्वारा उसके स्वयंसेवकों के लिए नियमित तौर पर 3 शिविरों का आयोजन किया जाता है, जिसका अंतिम चरण नागपुर में आयोजित होता है। इसके साथ ही युवाओं को संघ से जोड़ने के लिए कई छोटे-छोटे शिविर भी आयोजित किए जाते रहे हैं। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today