भारी मश्क्कत के बाद बाघ जयचंद को नहर से बचाया गया


  • भारी मश्क्कत के बाद बाघ जयचंद को नहर से बचाया गया
    भारी मश्क्कत के बाद बाघ जयचंद को नहर से बचाया गया
    1 of 1 Photos

नागपुर : बुधवार की दोपहर नागपुर के पास भंडारा के पवनी की गोसे नहर मे जयचंद नामक बाघ अचानक गिर गया, जिसे नहर से बाहर निकालने के लिए वन विभाग की रेस्क्यू टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी । कई समय तक बाघ नहर से निकलने की हर संभव कोशिश कर रहा था किन्तु वो बाहर नहीं निकल सका । दोपहर एक बजे के करीबन  जब वहां से गुजर रहे लोगों ने बाघ को पानी में जद्दोजहद करते देखा, तो उन्होंने इसकी सूचना तुरंत वन विभोग को दी । सूचना मिलने के बाद वन विभाग हरकत में आ गया । विभाग ने रेस्क्यू टीम तैयार कर दल के सदस्यों को मौके पर भेजा । साथ ही पुलिस को भी सूचना दी गई । जिसके बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिस भी पहुंची । 

वन विभाग के रेस्क्यू टीम ने बाघ को बचाने के लिए बांस की सीढ़ी तैयार की थी । जिसकी मदद से बाघ को बचाने में सफलता भी मिली। टीम ने मुस्तैदी से बांस जोड़कर सीढ़ी बनाने का काम शुरु कर दिया था। हालांकि ये काम इतना आसान नहीं था। नहर में पानी काफी ज्यादा था। सबसे पहले बांध प्रबंधन को सूचना दी गई। जिसके बाद नहर का पानी कुछ घंटों के लिए रोका गया। जैसे ही नहर से पानी कम होना शुरु हुआ। टीम ने बांस की सीढ़ियों की मदद से बाघ को नहर के दूसरी ओर पहुंचने में मदद की। नहर की एक तरफ शहरी इलाका है, तो दूसरी तरफ का हिस्सा जंगल से लगता है। नहर उमरेड पवनी कह्रांडला व्याघ्र प्रकल्प से होकर गुजरती है। बताया जा रहा है कि, बाघ पानी पीने आया होगा । जिस कारण फिसलकर वह नहर में जा गिरा । लगभगतीन घंटे तक रेस्क्यू अॉपरेशन चला।  रेस्क्यू टीम में 22 लोग शामिल थे। जिनमें ज्यादातर वन विभाग के कर्मचारी शामिल थे। रेस्क्यु अॉपरेशन शाम 4 बजे तक चला ।  बाघ नहर से बाहर निकलकर जंगल की ओर भाग गया I 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today