शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने


  • शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने
    शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने
    1 of 4 Photos
  • शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने
    शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने
    1 of 4 Photos
  • शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने..
    शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने..
    1 of 4 Photos
  • शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने...
    शहर में हो रही मकरसंक्राति की तैयारियां - सज गयी पतंग की दुकाने...
    1 of 4 Photos

नागपुर : नए साल के उत्साह के साथ शहर के लोग मकर संक्रांति की तैयारियां भी कर रहे है मकरसंक्राति पर्व को आने में अब शेष दिन ही बचे हैं I जिसके लिए शहरवासी मकरसंक्राति पर्व मनाने के लिए उत्साह में व्याप्त है । शहर में हर विभिन्न क्षेत्रों में पतंगों व मांझों को बनाने के लिए अस्थायी रूप से दुकानें सज गई है । इन दुकानों में ग्राहकों खासकर युवाओं की भीड़ दिख रही है। इस बार पतंगों में सलमान खान के साथ नरेन्द्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और यु पी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यना  की तस्वीर वाली पतंगों की मांग ज्यादा हो रही है।

शहर के जूनी शुक्रवारी क्षेत्र में पतंग की दुकानों में छोटी से लेकर बड़ी पतंगों को व्यापारियों की ओर से सजा दिया गया गया है। इसके साथ ही साथ रात के समय उड़ाए जाने वाले फानस की भी बिक्री हो रही है। पतंग के साथ ही मांझा तैयार करने के  लिए नागपुर शहर के सभी क्षेत्र तथा शहर से सटे मुख्य गांवों में मांझा को तैयार करने के लिए कारागीरो में गति दिख रही है। जगह-जगह मांझा चढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। मांझा चढ़ाने का खर्च भी पिछले साल की तुलना में इस बार २० प्रतिशत बढ़ गया है। मांझा चढ़ाने वाले कारीगरों के अनुसार इस साल युवाओं में गजब का उत्साह दिख रहा है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल की तुलना में इस साल पतंगों व मांझे के दाम में २० से २५ प्रतिशत की वृद्धि हुई है, लेकिन इसके बाद भी लोग अभी से पतंगों की धूम खरीदी कर रहे हैं। पतंग प्रेमियों में गजब का उत्साह पर्व को लेकर दिख रहा है। आकाशीय युद्ध के पर्व को लेकर युवा अभी से तैयारी में तल्लीन हो गए हैं। बालकों में भी पतंग खरीदने को लेकर काफी उत्साह है।

मकरसंक्राति को जहां पतंग प्रेमी पतंग उड़ाने का आनंद उठाते हैं, वहीं आकाश में उडऩे वाले निर्दोष पक्षी पतंग की डोरी की वजह से गंभीर रूप से घायल या काल के गाल में चले जाते हैं। पतंग की डोरी से घायल पक्षियों की सेवा के लिए जीवदया संस्था के कार्यकर्ताओं ने तैयारी शुरू कर दी है।

घायल पक्षियों को उपचार के लिए व्यवस्था की जा रही है। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today