जीरो माइल मेट्रो स्टेशन होंगा आकर्षण का केंद्र


  • जीरो माइल मेट्रो स्टेशन होंगा आकर्षण का केंद्र
    जीरो माइल मेट्रो स्टेशन होंगा आकर्षण का केंद्र
    1 of 1 Photos

नागपुर :-  नागपूर मेट्रो रेल परीयोजना के अंतर्गत सीताबर्डी इंटरचेंज स्टेशन से उत्तर नागपुर के आटोमोटीव्ह चौक की ओर जा रही मेट्रो रेल का जीरो माइल स्टेशन की जो डिजाइन बनाया गया है वह सभी सुविधायुक्त होणे के साथ ही आकर्षण का केंद्र साबित होंगी ! जीरो माइल भारत देश का “माइल स्टोन” है, यह आरेंज सिटी की सबसे बडी उपलब्धि है ! देश के केंद्रबिंदू जीरो माइल के नाम से निर्माणाधीन मेट्रो स्टेशन को बहुउपयोगी बनाने की दिशा में मेट्रो प्रबंधन प्रयासरत है ! विश्व स्तरीय स्टेशन की इमारत का निर्माण करने के उद्देश्य से इंटरनेशनल काम्पिटीशन का आयोजन मेट्रो की ओर से किया गया था ! जो डिजाइन फायनल की गई है, ऊस पर अमल किया जा रहा है !जीरो माइल स्टेशन निर्मान कार्य की प्रारंभिक प्रक्रिया शुरू हो गई है ! सीताबर्डी किले के समीप बनने वाली स्टेशन की इमारत देश के जीरो माइल के महत्व को बढाने में निश्चित ही मददगार साबित होगी ! स्टेशन की इमारत २० मंजिल होने का प्लान बनाया गया है ! उसी तर्ज पर इमारत की निंव डाली जा रही है, ताकि आवश्यकता के अनुसार उपयोग किया जा सके ! जीरो माइल स्टेशन का निर्माण बेहद सुंदर और आकर्षक होगा ! 

मेट्रो स्टेशन की यह पहली इमारत होगी, जिसका उपयोग व्यावसायिक के साथ ही आवास के लिए हो सकेगा !   बर्डी क्षेत्र का इंटरचेंज स्टेशन और जीरो माइल स्टेशन सीताबर्डी क्षेत्र का स्वरूप बदलने में कारगर सिद्ध होगा ! जीरो माइल स्टेशन निर्माण के लिए १५,४६९ वर्गमीटर भूमी अधिग्रहित की गई है! इसमें आवसीय क्षेत्र के लिए २.८ लाख वर्गफुट जगह का प्रावधान किया गया है, इसी तरह कार्यालय और होटल के लिए ०.२ लाख वर्गफुट जगह उपलब्ध रहेगी ! स्टेशन इमारत का निर्माण ६.३ लाख वर्गफुट में किया जा रहा है ! स्टेशन के समीप करीब ३९० कार पार्किंग की व्यवस्था रहेगी ! इमारत की उंचाई ९८ मीटर आंकी गई है ! 

 

मारिस कॉलेज से लेकर सीताबर्डी किला परिसर ऐतिहासिक है ! भोसले कालीन ऐतिहासिक परिसर आजादी जंग का मैदान मारिस कॉलेज के समीप ही बना हुआ था ! स्वातंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की आहुती इसी मैदान पर दी थी ! इसका इतिहास गवाह है ! क्रांतिवीरों का बना शहीद स्मारक इस क्षेत्र का गौरव है ! मेट्रो प्रबंधन ने इतिहास को तरोताजा रखने के उद्देश्य से ‘हैरिटेज वाक’ निर्माण करने की भी पहल की है ! हैरिटेज वाक जीरो माइल्स से संविधान चौक तक रहेगा, मेट्रो प्रबंधन जीरो माइल के महत्व की और अधिक गौराव्न्वित करने के साथ ही इतिहास का भलीभांकी जतन करने की दिशा में प्रयासरत है I



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments