ऑरेंज सिटी इंटरनेशनल फेस्टिवल में शामिल होंगे निर्देशक गोविंद निहलानी


  • ऑरेंज सिटी इंटरनेशनल फेस्टिवल में शामिल होंगे निर्देशक गोविंद निहलानी
    ऑरेंज सिटी इंटरनेशनल फेस्टिवल में शामिल होंगे निर्देशक गोविंद निहलानी
    1 of 1 Photos

नागपुर : उपराजधानी में ऑरेंज सिटी इंटरनेशनल फेस्टिवल आगामी 10 दिसंबर को आईटी पार्क स्थित परसिसटेंस कवि कुलगुरु कालिदास सभागृह में शाम 6 बजे आयोजित किया गया है I इस मौके पर जाने माने निर्देशक गोविंद निहलानी फिल्म से जुड़े मुद्दों पर मार्गदर्शन करने नागपुर आ रहे हैं । इस फेस्टिवल में  निर्देशक गोविंद निहलानी अपने अनुभवों को साझा करते हुए युवा प्रतिभाओं का मार्गदर्शन कर संवाद करेंगे । संवाद के दौरान चित्रपट, साहित्य, सिनेमटोग्राफी, स्क्रीन प्ले, ओमपुरी, अर्द्धसत्य आदि मुद्दों पर चर्चा होगी । 

हिन्दी फिल्म के जगत में गोविंद निहलानी का नाम जाना-माना है, उन्होंने आक्रोश, विजेता, अर्धसत्य, द्रोहकाल, देव और हजार चौरासी की मां जैसी समानांतर और कालजयी फिल्में बनाई हैं । व्यावसायिक फिल्मों में कैमरामैन वी.के. मूर्ति के सहायक के रूप में काम करके जहां उन्होंने तकनीकी कौशल हासिल की, वहीं श्याम बेनेगल जैसे प्रतिभावान फिल्मकार के साथ समानांतर सिनेमा के निर्देशन की बारीकियां सीखने में मदद मिलीं । कराची में 19 दिसंबर,1940 को जन्मे गोविंद निहलानी का परिवार 1947 के भारत - पाक विभाजन के दौरान भारत बस गया था।

मुंबई में वैसे तो निहलानी ने अपने कैरियर की शुरुआत विज्ञापन फिल्मों से की थी किन्तु उन्हें प्रसिद्ध निर्देशक श्याम बेनेगल के साथ उनकी फिल्मों निशांत, मंथन, जुनून में एक छायाकार (कैमेरा मन) के रूप में कैरियर की शुरुआत करने का मौका मिला। निर्देशक के रूप में अपना हुनर साबित करने का मौका 1980 में प्रदर्शित फिल्म आक्रोश के जरिए मिला, क्यों की इस फिल्म को कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया था। अस्सी के दशक में जब गोविंद निहलानी की पहली फिल्म अर्धसत्य आयी, तो तहलका मचाते हुए एक नया कीर्तिमान स्थापित किया अर्धसत्य ने अलग-अलग वर्गो में पांच फिल्मफेयर पुरस्कार जीते थे । उनके जीवन का आइना और अच्छे व्यक्तिमत्व के लिए निहलानी को 2002 में पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है I 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today