मनपा की नई पालिसी-निवासी फ्लैट स्कीम में क्लीनिक चलाने को बंदी


  • मनपा की नई पालिसी-निवासी फ्लैट स्कीम में क्लीनिक चलाने को बंदी
    मनपा की नई पालिसी-निवासी फ्लैट स्कीम में क्लीनिक चलाने को बंदी
    1 of 1 Photos

नागपुर : नागपुर महानगर पालिका ने नयी पॉलिसी तैयार की है जिसके चलते अब रेसिडेंशियल फ्लैट स्कीम में ओपीडी क्लीनिक चलाने को मान्यता नहीं दी जाएगी I जानकारी के अनुसार जिसे आनेवाले 8 दिसंबर की मनपा की सभा में इस प्रपोजल को मंजूरी के लिए रखा जाएगा I  संभवत: जिसके बाद वर्तमान में निवासी फ्लैट स्कीम में चल रहे सभी ओपीडी को तत्काल से बंद करना पड़ सकता है। साथ ही किसी भी नए ओपीडी क्लीनिक को अब आगे से फ्लैट स्कीम में मंजूरी नहीं दी जाएगी । 

पिछले कुछ दिनों में मनपा सभागृह ने इंदोरा स्थित फ्लैट स्कीम में चल रहे ओपीडी क्लीनिक को तुरंत बंद करने का आदेश दिया था, किन्तु इस संबंध में मनपा की अपनी कोई नीति नहीं होने से संबंधित फ्लैट स्कीम संचालक ने इसे कोर्ट में चुनौती दी थी। इसके बाद मनपा ने इसे लेकर नीति बनाने का ऐलान भी किया था। वैद्यकीय सेवा व स्वास्थ्य विशेष समिति में चर्चा हुई। चर्चा के अनुसार बदलाव और सुधार कर इसे सभागृह में चर्चा के लिए भेजने का निर्णय लिया गया है। 8 दिसंबर को होनेवाले मनपा की आमसभा में इसे मुख्य रूप से रखा जाएगा । आमसभा में रखे जाने के बाद इस पर निर्णय लिए जाने की कुछ हद तक संभावना है।

अगर आम सभा में इसे मंजूरी दी जाती है तो 1- रेसिडेंशियल फ्लैट स्कीम में वैद्यकीय व्यवसाय को लाइसेंस नहीं दिया जाएगा I  2- प्रस्ताव मंजूर होने के बाद अगर वैद्यकीय व्यावसायिक इसका उल्लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ एमआरटीपी, डीसीआर 200 अनुसार कार्रवाई का अधिकार मनपा को रहेगा I  3- ओपीडी व्यवसाय के लिए जगह वाणिज्यिक स्वरूप होना अनिवार्य होनी चाहिए ।  4- व्यावसायिक जगह का क्षेत्रफल 100 वर्गफीट होना आवश्यक हैै ।5-  निवासी फ्लैट स्कीम में संबंधित जगह का नक्शा व्यावसायिक उपयोग के लिए मंजूर होने पर भी ऐसे स्थान पर ओपीडी व्यवसाय करने के लिए कम से कम 70 प्रतिशत निवासियों की सहमति लेना आवश्यक रहेगा । 6- धार्मिक अथवा सामाजिक समुदाय की जगह पर धर्मार्थ वैद्यकीय सेवा के लिए आसपास के नागरिकों की लिखित सहमति पत्र आवश्यक होगा। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today