बहुचर्चित खैरलांजी हत्याकांड के सजायाफ्ता कैदी विश्वनाथ धांडे की मौत


  • बहुचर्चित खैरलांजी हत्याकांड के सजायाफ्ता कैदी विश्वनाथ धांडे की मौत
    बहुचर्चित खैरलांजी हत्याकांड के सजायाफ्ता कैदी विश्वनाथ धांडे की मौत
    1 of 1 Photos

नागपुर : समूचे देश में बहुचर्चित खैरलांजी हत्याकांड में सजा काट रहे कैदी विश्वनाथ हागरू धांडे (65) खैरलांजी, भंडारा निवासी की मेडिकल अस्पताल में मौत हो गई। यह कैदी आरोप सिद्ध होने के पश्च्चात नागपुर मध्यवर्ती कारागृह में सजा काट रहा था। धंतोली पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया है। विश्वनाथ खैरलांजी प्रकरण में अन्य पांच कैदियों के साथ जेल में बंद था। 

उम्रकैद की सजा भुगत रहे आरोपी 29 सितंबर 2006 को भंडारा जिले के खैरलांजी गांव में सुरेखा भैयालाल भोतमांगे, उसकी बेटी प्रियंका, बेटे सुधीर आैर रोशन की गांव के एक समुदाय ने हत्या की थी । पिछड़ी जाति के भोतमांगे परिवार के चार लोगों की हत्या करने के बाद पूरे देश में यह प्रकरण चर्चा में आया था। राज्य सरकार ने इस हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराई थी। उस दौरान न्यायालय ने आरोपी विश्वनाथ धांडे के साथ साकरू बींजेवार, रामू धांडे, शत्रुघ्न धांडे, जगदीश मांडलेकर को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। विश्वनाथ धांडे की जेल में तबीयत खराब होने पर उसे मेडिकल अस्पताल में भर्ती किया गया था। 

हत्याकांड का नागपुर के अलावा भंडारा, मुंबई सहित राज्य के विविध शहराें में विरोध हुआ था। उस समय संसद में भी इस हत्याकांड की गूंज सुनाई दी थी। तत्कालीन राज्य सरकार ने फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामला चलाया था। आंदोलन के बाद करीब 7 माह में अदालत में चार्जशीट दाखिल की गई। करीब डेढ़ वर्ष तक चले इस प्रकरण की सुनवाई 15 सितंबर 2008 को हुई। भंडारा न्यायालय ने 11 आरोपियों में से गोपाल सक्रू बिंजेवार, सक्रू बिंजेवार, शत्रुघ्न धांडे, विश्वनाथ धांडे, प्रभाकर मंडलेकर, जगदीश मंडलेकर, रामू धांडे आैर शिशुपाल धांडे को फांसी की सजा सुनाई थी।

इस बहुचर्चित हत्याकांड में धांडे मरनेवाला दूसरा आरोपी है, इससे पहले जगदीश मंडलेकर की वर्ष 2012 में  मौत हो गई थी। मंडलेकर नागपुर के कारागृह में सजा भुगत रहा था। 13 फरवरी 2012 को एक माह के लिए पैरोल पर खैरलांजी गया था। 13 अप्रैल 2012 को उसे वापस जेल में जाना था। इस दौरान उसकी तबीयत खराब होने पर जिला सामान्य अस्पताल में उसे भर्ती किया गया, जहां उसकी मौत हो गई थी।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today