पुलिसकर्मियों को मिलेगी डिजिटल मेडिकल ई-लॉकर की सुविधा


  • पुलिसकर्मियों को मिलेगी डिजिटल मेडिकल ई-लॉकर की सुविधा
    पुलिसकर्मियों को मिलेगी डिजिटल मेडिकल ई-लॉकर की सुविधा
    1 of 1 Photos

नागपुर : सारे देश में महाराष्ट्र पुलिस को अपने अच्छे कर्तव्य के लिए जाना जाता है उसी के तर्ज पर अब संतरा नगरी नागपुर में पुलिस विभाग और भी स्मार्ट होने जा रहा है। डिजिटल इंडिया में कदम से कदम मिलाते हुए पुलिस विभाग ने अपने कर्मचारियों के हेल्थ का रिकार्ड बनाए रखने के लिए डिजिटल मेडिकल ई लॉकर बनाया है। वैसे देखा जाए तो वर्ष 1972 में पुलिस लाइन टाकली के मैदान पर बने पुलिस अस्पताल को अाधुनिकता का लिबास ओढ़ने में करीब 45 वर्ष लग गए। इस अस्पताल को पहले लोग पुलिस अस्पताल के नाम से जानते थे। पुलिस परिवार अब इस अस्पताल को पॉली क्लीनिक के नाम से जानेंगे। इस अस्पताल में डिजिटल मेडिकल ई-लॉकर की सुविधा है, जहां पर 45 वर्ष से ऊपर के पुलिस जवानों की मेडिकल रिपोर्ट रखी जाएगी। वह राज्य में कहीं भी तैनात रहे, उसकी बीमारी के बारे में तत्काल जानकारी  संबंधित डॉक्टर जान सकेंगे और उनका इलाज तुरंत किया जाएगा ।

किसी कारण वश इस अस्पताल में पुलिस परिवार जाने से कतराते थे। यहां सुविधा के नाम पर महज खानापूर्ति होती थी। इस अस्पताल की दुर्दशा के बारे में पुलिस आयुक्त डॉ. व्यंकटेशम ने गंभीरता दिखाई और पुलिस परिवार के लिए पॉली क्लीनिक पुलिस अस्पताल को आधुनिक बनवाने के लिए वरिष्ठ अधिकारियों से गुजारिश की। पुलिस आयुक्त की पहल का नतीजा है कि पुलिस अधिकारी, कर्मचारी और उनका परिवार अब इस अस्पताल में अपना उपचार करवा सकेगा। इस अस्पताल में डेंगू, चिकन गुनिया, स्वाइन फ्लू, मलेरिया व अन्य कई गंभीर रोगों के बारे में जांच की जाएगी। इस अस्पताल का हाल ही में राज्य के पुलिस महानिदेशक सतीश माथुर के हाथों उदघाटन किया गया। इस अवसर पर पुलिस आयुक्त डॉ. के. व्यंकटेशम, सहपुलिस आयुक्त शिवाजी बोडखे, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्यामराव दिगावकर सहित अन्य पुलिस अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today