फिल्म 'पद्मावती'- विवादों के चलते बोले जावेद अख्तर


  • फिल्म 'पद्मावती'- विवादों के चलते बोले जावेद अख्तर
    फिल्म 'पद्मावती'- विवादों के चलते बोले जावेद अख्तर
    1 of 1 Photos

नागपुर : इन दिनों फिल्म पद्मावती को लेकर देश में कई जगह विरोध किया जा रहा है वही बॉलीवुड के मशहूर राइटर और पूर्व राज्यसभा सांसद जावेद अख्तर ने एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में शामिल होकर कहा की, पद्मावती को लेकर उनके बयान की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है। कार्यक्रम में जावेद अख्तर से जब फिल्म 'पद्मावती' को लेकर हो रहे विवाद के बारे पूछा गया तो उन्होंने फिल्म को ही नकली बता दिया। जावेद अख्तर के मुताबिक फिल्म की कहानी सलीम-अनारकली की तरह नकली है। वे यहाँ तक ही नहीं रुके, आगे उन्होंने कहा की 'जो लोग जो इस तरह की बातें करते हैं वो बेवकूफ हैं।'ऐसा कहकर जावेद अख्तर ने मुगलों को देशद्रोही बताने वालों पर जमकर हमला बोला है । 

जावेद अख्तर के इस कार्यक्रम में शामिल हुए इतिहास के एक प्रोफेसर ने भी पद्मावती की कहानी को लेकर जावेद का समर्थन किया और इसे नकली बताया। प्रोफेसर के मुताबिक 'पद्मावती' की रचना और अलाउद्दीन खिलजी के समय में काफी फर्फ था। जायसी ने जिस वक्त इसे लिखा था, तब और खिलजी के शासनकाल में करीब 200 से 250 साल का फर्क था। इतने साल में जब तक कि जायसी ने पद्मावती नहीं लिखी, कहीं रानी पद्मावती का जिक्र ही नहीं है।'

जावेद अख्तर ने इतिहास को फिल्मों के जरिए ना समझने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इतिहास को फिल्म से मत समझिए। आप गौर से फिल्में देखिए और आनंद लिजिए। इतिहास को जानने के लिए केवल अच्छे इतिहासकार की बुक्स पढ़िए।

वहीं जब कार्यक्रम में उनसे पूछा गया कि जब अकबर रोड का नाम बदलने की बात होती है तो आपको गुस्सा क्यों आ जाता है। इस पर जावेद अख्तर ने कहा कि 'ऐसा करने वाले लोग अकबर को ठीक तरह से जानते ही नहीं हैं। जब-जब हिंदुस्तान के महान शख्सियतों की बात दुनिया में कहीं भी होती है तो उसमें अकबर का नाम जरूर आता है। उन्होंने कहा कि 'अगर अकबर के बारे में गलत सोच रखने वाले अगर अकबर का इतिहास पढ़ लें तो उन्हें नाज होगा कि वो अकबर के देश में पैदा हुए हैं ।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today