जिला परिषद् की २२ स्कूलों को बंद किया जायेगा - राज्य सरकार का निर्णय


  • जिला परिषद् की २२ स्कूलों को बंद किया जायेगा - राज्य सरकार का निर्णय
    जिला परिषद् की २२ स्कूलों को बंद किया जायेगा - राज्य सरकार का निर्णय
    1 of 1 Photos

नागपुर : आज के दौर में सीबीएससी स्कूलों की स्पर्धा में लगातार पीछे पड रही जिला परिषद् की स्कूलों को बंद करने का महत्वपूर्ण  निर्णय महाराष्ट्र राज्य सरकार ने लिया है । सरकार के इस निर्णय से नागपुर जिला परिषद की 22 स्कूलों को झटका लगेगा । 10 से कम विद्यार्थी संख्या वाली स्कूलों को बंद कर एक मिलोमीटर के दायरे में स्थित दूसरी स्कूलों में उन छात्रों का समायोजन किया जाएगा । इस संबंध में जिला परिषद को शासनादेश प्राप्त हुआ है। 

शिक्षा क्षेत्र में बढ़ती स्पर्धा के चलते सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या तेजी से घट रही है। इसे रोकने के सरकारी प्रयास नाकाम रहे हैं। पिछले वर्ष के यूडायस के आंकड़ों के अनुसार नागपुर जिला परिषद की 1562 स्कूलों में से 131 स्कूलों में विद्यार्थी संख्या 10 से कम है । पिछले कुछ महीनो में सरकार ने खर्च में कटौती की नीति अपनाई है । इसमें 10 से कम विद्यार्थी संख्या वाली स्कूल बंद करने का फैसला किया गया है। इसमें नागपुर जिला परिषद की 22 स्कूल बंद करने का ठोस कदम उठाने की जानकारी शिक्षा विभाग से प्राप्त हुई है ।

बंद करने वाली स्कूलों के विद्यार्थियों को एक मिलोमीटर के दायरे में पड़ोस की स्कूलों में समायोजन करने के सरकार ने निर्देश दिए हैं। आने वाले कुछ ही दिनों में विद्यार्थियों का समायोजन हो सकता है । विद्यार्थियों के समायोजन के साथ ही शिक्षकों का भी समायोजन किया जाएगा। ज्ञात हो की निजी स्कूलों में दी जाने वाली गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के सामने जिला परिषद स्कूल स्पर्धा नहीं कर पाने से यह नौबत आई है । इस संदर्भ में जिला परिषद के शिक्षाधिकारी दीपेन्द्र लोखंडे ने बताया कि  सरकार के आदेश के अनुसार 22 स्कूलों का पड़ोस की स्कूलों में समायोजन किया जाएगा। जिससे कोई भी विद्यार्थी शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा। विद्यार्थियों के साथ ही शिक्षकों का भी समायोजन किया जाएगा। सरकार ने ऐसा आश्वासन दिया है की शाला बंद होने का असर विद्यार्थियों और शिक्षकों पर नहीं होने दिया जाएगाा ।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today